Hindi Motivational Story 10 (Positive thinking)

Positive Thinking Sachin Tendulkar
Positive Thinking Sachin Tendulkar

         This Story is a hindi motivational story .It motivates you to think always positive even if you are in great trouble.Thinking positive will definitely overcomes you from big issues.If you like this hindi motivational story then comment.This story is about Sachin tendulkar .

     सचिन तेन्दुलकर पहली बार विदेशी दौर पर गये। ‘वेस्टइंडीज‘ सिद्धू और सचिन ओपनिंग कर रहे थे। पिच फास्ट बाॅलर के लिए था। कर्टली एम्ब्रोस ht. 6’8”,बाॅल करते तो ऐसा लगता मानो बादलों से बाॅल आ रही है।

      सिद्धू स्ट्राइक पर पहला ओवर पहली गेंद। सिद्धू के कंधे पर लगी, दूसरी बाल हाथ पर लगी। कुल मिलाकर सारी गेंदे बल्ले के अलावा सभी जगह लगी।
     अगला ओवर इयान बिशप ht. 6’9”, यानि पहले से भी खतरनाक। सिद्धू ने सचिन को कहा – ” ध्यान से खेलना टप्पा खाने के बाद बाॅल धोखा दे रही है।”
      बिशप रनअप के लिए दौड़ा, सचिन पहली बाॅल फेस कर रहे थे। बिशप ने बाॅल डाला और
सचिन ने आगे बढ़कर घुमा दिया – 6 रन।

      सिद्धू हैरान, उसने पास जाकर कहा – “गुरू क्या कर रहा है । ”

      सचिन ने कहा -” पाजी आपने बोला ना टप्पा पड़ने के बाद बाॅल धोखा दे रही है , मैनें टप्पा पड़ने ही नहीं दिया। “

      अतः हम अगर मुसीबत से डरे नहीं, उससे टकराने की सोच लें, उस पर हावी हो जायें तो
हमें सफल होने से कोई नहीं रोक सकता।आप भी परीक्षा पर हावी हो जाये, आगे बढ़कर तैयार करें, पेपर कैसा भी आ जाये, हमें पूरा करना है।

Share

5 Trackbacks / Pingbacks

  1. Hindi Poetry - "Izhaar" - Hindi Digest
  2. Hindi Motivational Story - 8 ( Keep Moving) - Hindi Digest
  3. लहसुन के फायदे - Hindi Digest
  4. Hindi Moral Story - खरगोश की हिम्मत - Hindi Digest
  5. Hindi Motivational Poem - ' बुलंद इरादे ' - Hindi Digest

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*