Hindi Motivational Story ‘Aatmvishwas’

Hindi Motivational Story
Hindi Motivational Story

     In this post you can read a Hindi Motivational Story ‘Aatmvishwas‘.This hindi motivational story is about a a small state.How a small state wins a war against a big state.If you like this Hindi Motivational Story ‘Aatmvishwas‘ then comment and share.

Hindi Motivational Story - 'Aatmvishwas'

     एक छोटा सा राज्य था । उसके पड़ोस में एक बहुत ही शक्तिशाली राजा का राज्य था । शक्तिशाली राजा ने छोटे से राज्य पर आक्रमण कर दिया ।
     छोटे राज्य के राजा को जब पता चला तो उसने अपने सेनापति को बुलाया । सेनापति ने राजा को कहा – ” महाराज उनकी सेना बहुत ही शक्तिशाली और बड़ी है हमारी छोटी सी सेना उन्हें कैसे रोक पायेगी ?”
     छोटे राज्य की सेना के सैनिकों ने भी जब सेनापति के मुहँ से पड़ौसी सेना की शक्ति का पराक्रम सुना तो वह भी घबरा गए ।

     सेनापति के ऐसे हतोत्साहित करने वाले शब्द सुनकर उस राज्य के राजगुरु ने राजा से कहा – ” महाराज इस युद्ध की कमान आप मुझे सौंप दीजिये ।”
      राजा को बड़ा आश्चर्य हुआ की राजगुरु सेना की कमान कैसे संभालेंगे और इतनी बड़ी सेना से कैसे मुकाबला करेंगे ?
       लेकिन उनका आत्मविश्वास देखकर राजा ने उन्हें सहमति दे दी ।
       राजगुरु ने पूरी सेना को राज्य के मंदिर के मैदान में इकट्ठा होने को कहा । जब पूरी सेना वहां एकत्रित हो गयी तो राजगुरु वहां आये और बोले – “आज हम युद्ध में जाने से पहले हमारे देवता से पूछ लेते हैं की युद्ध में किसकी विजय होगी ।”
       यह कहकर राजगुरु मंदिर में चले गए । बाहर पूरी सेना उनका बेसब्री से इंतजार कर रही थी । थोड़ी देर बाद राजगुरु बाहर आये ।
       पूरी सेना की नज़र उन पर थी । राजगुरु ने कहा – ” देवता ने कहा है की पड़ौसी राज्य की सेना भले ही बहुत बड़ी है परन्तु में भविष्य देखकर यह बता रहा हूँ की विजय हमारे राज्य की होगी ।”
      यह सुनकर सैनिकों में हर्ष की लहर दौड़ गयी । उनका जोश सातवें आसमान में पहुँच गया । सब ने जोश में देवता का जय -जयकार किया और युद्ध के लिए तैयार हो गए ।
      युद्ध में प्रत्येक सैनिक पूरे जोश के साथ लड़ा क्यूंकि उन्हें आत्मविश्वास था की विजय तो हमारी ही होगी ।अंत में बड़े राज्य की सेना उनका पराक्रम देखकर वहां से भाग गयी । छोटे राज्य का राजा बड़ा प्रसन्न हुआ ।

       हमें किसी भी काम को करने से पहले यह नहीं सोचना चाहिए की काम कितना बड़ा है । पूरे आत्मविश्वास के साथ काम को ख़त्म करने का प्रयास करना चाहिए ।
      कहा भी है – ‘अपने हौसलों को कभी मत बताओ की मुश्किल कितनी बड़ी है ,मुश्किलों को पता चलने दो की हौंसले कितने बड़े हैं ।’

Share

1 Trackback / Pingback

  1. Hindi Moral Stroy - 'Soch' - Hindi Digest

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*