प्यारी बहन

poem on sister
Best Poem on sister in hindi

प्यारी बहन

एक सच्चे दोस्त की जरूरत घर में ही पूरी कर देती है,
मम्मी के घर में न होने पर जो उनका रूप धर लेती है,

भाई से करती है बात बात पर नोक झोंक,
पर उस नोक झोंक के पीछे भी एक प्यारी सी मुस्कान होती है,

छोटी हो चाहे या हो बड़ी ,
घर में सबसे दुलारी वही होती है

बात बात पर जो ‘आने दो पापा को ‘ कहकर धमकाती है,
और पापा के घर में आते ही ‘ बोल दूंगी’ का इशारा कर डराती है।

जिसको तंग करने में सबसे ज्यादा मजा आता है,
पर घर में जिसके बिना एक पल भी रहा नहीं जाता है,

Tv के रिमोट पर जो अपना हक जताती है,
छोटी छोटी बात पर भी जो हमसे लड़ जाती है।

घर की सजावट करनी हो या कोई नई खरीद,
सबसे ज्यादा राय जो घर में देती है।
और कोई चीज़ रख दो इधर उधर तो
सारा आसमां सर पर जो उठा लेती है

हमारी बेइज्जती होने पर जिसको सबसे ज़्यादा हँसी आती है,
पर कोई दूसरा करे अगर तो उसे वो नहीं सह पाती है।

त्योहार हो कोई अगर तो तैयारी में जो लग जाती है
नए कपड़े पहन कर जो सबसे ज्यादा इठलाती है,

जाना हो कहीं तो अगर तो जो सबसे ज्यादा टाइम लगती है,
और ‘भैया को टाइम बहुत लगता है’कहकर हंसी जो उड़ाती है।

शादी के बाद जो घर से दूर चली जाती है,
कैसे बताये उसको की उसकी याद हमें कितनी सताती है

दूर रहकर भी वो अधिकार पूरा जमाती है
और रोज फ़ोन कर जो सबकी ख़बर ले जाती है।

खुशनसीब है वो भाई जिनकी एक प्यारी सी बहन होती है।

Share

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*